अंदाज़-ए-जफ़ा बदल के देखो तो सही जगत मोहन लाल रवाँ

अंदाज़ जफ़ा बदल के देखो तो सही

पाँव से ये फूल मल के देखो तो सही

रंग गुल-कारी जबीन सज्दा

इक दिन घर से निकल के देखो तो सही

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s