Humein Koi Gham Nahin Tha / हमें कोई ग़म नहीं था ग़म-ए-आशिकी से पहले

हमें कोई ग़म नहीं था ग़म-ए-आशिकी से पहले
न थी दुश्मनी किसीसे तेरी दोस्ती से पहले

है ये मेरी बदनसीबी तेरा क्या कुसूर इस में
तेरे ग़म ने मार डाला मुझे ज़िन्दगी से पहले

मेरा प्यार जल रहा है, अरे चाँद आज छुप जा
कभी प्यार था हमें भी, तेरी चांदनी से पहले

मैं कभी न मुस्कुराता, जो मुझे ये इल्म होता
के हज़ार ग़म मिलेंगे मुझे इक खुशी से पहले

ये अजीब इम्तिहान है के तुम्हीं को भूलना है
मिले कब थे इस तरह हम तुम्हें बेदिली से पहले

Humein Koi Gham Nahin Tha Lyrics
Hamen koi gm nahin tha gm-e-ashiki se pahale
N thi dushmani kisise teri dosti se pahale

Hai ye meri badanasibi tera kya kusur is men
Tere gm ne maar daala mujhe jindagi se pahale

Mera pyaar jal raha hai, are chaand aj chhup ja
Kabhi pyaar tha hamen bhi, teri chaandani se pahale

Main kabhi n muskuraata, jo mujhe ye ilm hota
Ke hajaar gm milenge mujhe ik khushi se pahale

Ye ajib imtihaan hai ke tumhin ako bhulana hai
Mile kab the is tarah ham tumhen bedili se pahale
Unkown Person liked this
Additional Information
गीतकार : फैयाज़ हाश्मी, गायक : मेहदी हसन, संगीतकार : -, गीत संग्रह / चित्रपट : शब्बा-खैर (१९६७) / Lyricist : Faiyaz Hashmi , Singer : Mehdi Hassan, Music Director : -, Album/Movie : Shab-ba-Khair (1967)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s