Jin Raton Mein Neend Ud Jati Hai / जिन रातों में नींद उड़ जाती है

जिन रातों में नींद उड़ जाती है क्या कहर की रातें होती हैं
दरवाजों से टकरा जाते हैं दीवारों से बातें होती हैं

घिरघिर के जो बदल आते हैं और बिन बरसे खुल जाते हैं
आशाओं की झूठी दुनिया में सूखी बरसातें होती हैं

जब वो नहीं होते पहलू में और लम्बी रातें होती है
याद आके सताती रहती है और दिलसे बातें होती हैं

हँसने में जो आँसू आते हैं, दो तस्वीरें दिखलाते हैं
हर रोज जनाजे उठते हैं, हर रोज बारातें होती हैं

हिम्मत किसकी है जो पुछ सके ये आरज़ू-ए-सौदाई से
क्यूँ साहिब आखिर अकेले में ये किससे बातें होती हैं

Jin Raton Mein Neend Ud Jati Hai Lyrics
Jin raaton men nind ud jaati hai kya kahar ki raaten hoti hain
Darawaajon se takara jaate hain diwaaron se baaten hoti hain

Ghiraghir ke jo badal ate hain aur bin barase khul jaate hain
Ashaaon ki jhuthhi duniya men sukhi barasaaten hoti hain

Jab wo nahin hote pahalu men aur lambi raaten hoti hai
Yaad ake sataati rahati hai aur dilase baaten hoti hain

Hnsane men jo ansu ate hain, do taswiren dikhalaate hain
Har roj janaaje uthhate hain, har roj baaraaten hoti hain

Himmat kisaki hai jo puchh sake ye araju-e-saudaai se
Kyun saahib akhir akele men ye kisase baaten hoti hain
Additional Information
गीतकार : -, गायक : -, संगीतकार : -, गीतसंग्रह/चित्रपट : – / Lyricist : -, Singer : Mohammad Rafi, Music Director : -, Album/Movie : Raat Ki Rani (1949)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s