Jo Baat Tujh Mein Hai / जो बात तुझ में है तेरी तस्वीर में नहीं

जो बात तुझ में है, तेरी तस्वीर में नहीं

रंगों में तेरा अक्स ढला, तू न ढल सकी
साँसों की आँच, जिस्म की खुशबू ना ढल सकी
तुझ में जो लोच है, मेरी तहरीर में नहीं

बेजान हुस्न में कहाँ गुफ़्तार की अदा
इन्कार की अदा है, ना इकरार की अदा
कोई लचक भी जुल्फ-ए-गिरहगीर में नहीं

दुनिया में कोई चीज़ नहीं है तेरी तरह
फिर एक बार सामने आजा किसी तरह
क्या और एक झलक मेरी तकदीर में नहीं
#PradeepKumar #BinaRai

Jo Baat Tujh Mein Hai Lyrics
Jo baat tujh men hai, teri taswir men nahin

Rngon men tera aks dhala, tu n dhal saki
Saanson ki anch, jism ki khushabu na dhal saki
Tujh men jo loch hai, meri taharir men nahin

Bejaan husn men kahaan guftaar ki ada
Inkaar ki ada hai, na ikaraar ki ada
Koi lachak bhi julf-e-girahagir men nahin

Duniya men koi chij nahin hai teri tarah
Fir ek baar saamane aja kisi tarah
Kya aur ek jhalak meri takadir men nahin


Additional Information
गीतकार : साहिर लुधियानवी, गायक : मोहम्मद रफी, संगीतकार : रोशन, चित्रपट : ताज महल (१९६३) / Lyricist : Sahir Ludhianvi, Singer : Mohammad Rafi, Music Director : Roshan, Movie : Taj Mahal (1963)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s